अगर आप लगातार करते हैं ईयर फोन का इस्तेमाल तो पहुंच सकते हैं अस्पताल

0
jambo

अगर आप भी कान में ईयर फोन लगाकर गाने सुनने का शौक रखते हैं या फिर रूई से अक्सर कान साफ करते हैं तो ये खबर आपको थोड़ा परेशान जरूर कर सकती है. कान के अंदर की गंदगी से हर कोई छुटकारा पाना चाहता है लेकिन हम उसे गंदगी और धूल से बचाते नहीं हैं. जब कभी भी कान में थोड़ी सी दिक्कत महसूस होती है तो अपना घरेलू उपाय करने लगते हैं. यहां जानने वाली बता ये है कि कान अपने अंदर की गंदगी खुद साफ करता है. हर बार जब आप अपने जबड़े को हिलाते हैं तो आपके कान के अंदर की त्वचा हिल जाती है और इससे अतिरिक्त वैक्स (गंदगी) अपने आप निकल जाती है.

विशेषज्ञों की मानें तो कान के अंदर कोहनी से छोटी चीज नहीं डालनी चाहिए. जब कभी भी हम कान के अंदर बाहरी चीज डालते हैं तो कान के पीएच लेवल में बदलाव होता है और कान में पहले से ज्यादा गंदगी जमा होने लगती है. अगर कोई व्यक्ति कान की सफाई के लिए कॉटन बट्स का इस्तेमाल करता है तो इससे गंदगी साफ होने के बजाय और पीछे चली जाती है. इसी तरह अगर आप ईयर फोन का इस्तेमाल करते हैं तो भी कान के अंदर की गंदगी पीछे चली जाती है.

अगर आप कान में तेल डालते हैं तो ये आपके कान को और भी खराब कर सकता है. ये आपके कान के अंदर की गंदगी को गला देता है और इसकी एक परत त्वचा में चिपक जाती है. ये गंदगी तब तक साफ नहीं होती है जब तक इसे कान के चिकित्सक से साफ न कराया जाए. तेल कान को उसी तरह से ब्लॉक कर देता है जैसे पानी के अंदर जाने पर महसूस होता है.अगर आपको लगता है कि आपके कान के अंदर ज्यादा गंदगी है और आप कान को लेकर काफी चिंतित रहते हैं तो डॉक्टर से चेक कराएं क्योंकि वह कान की गंदगी को सही तरीके से साफ कर देगा. हम तो यही कहेंगे कि आप कान को अकेला छोड़ दें क्योंकि कान अंदर की गंदगी को प्राकृतिक तरीके से साफ करता रहता है. अगर आप कान को लेकर चिंतित हैं तो आप एक-दो साल में जरूर चेक कराएं. आपके कान सिर्फ सुनने के लिए नहीं हैं, ये आपके शरीरी का बैलेंस भी बनाकर रखते हैं, इसलिए इसका खास ख्‍याल रखना चाहिए.

Sumo

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More