थम सा गया ईरान, जनरल सुलेमानी को श्रद्धांजलि देने सड़कों पर उतरा लाखों का हुजूम

0
jambo

तेहरान. अमेरिकी (America) हमले में मारे गए ईरानी सैन्य कमांडर कासिम सुलेमानी (Qasem Soleimani) को श्रद्धांजलि देने के लिए सोमवार को बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ उमड़ी और शहर थम सा गया. सड़कों पर युवाओं, बुजुर्गों और महिलाओं की भारी तादाद थी. महिलाएं हिजाब और अन्य काले परिधान में थीं.

सुलेमानी (Qasem Soleimani) की सोमवार को जनाज़े की नमाज़ पढ़ाई गई. इस दौरान ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खामनेई फूट-फूटकर रोते नजर आए. तेहरान में बेहद भावनात्मक आयोजन में खामनेई ने सैन्य कमांडर सुलेमानी को अंतिम विदाई दी.

ईरान के सबसे लोकप्रिय शख्स सुलेमानी शुक्रवार को बगदाद अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के समीप अमेरिकी हवाई हमले में मारे गये थे. वह 62 साल के थे. उनकी हत्या के बाद चिर प्रतिद्वंद्वी ईरान और अमेरिका के बीच तनाव बढ गया है. ईरान ने बदला लेने का संकल्प लिया है.

‘हम जंग नहीं चाहते’
प्रदर्शन में शामिल एक महिला ने कहा, ‘वह नायक थे. उन्होंने दाएस (इस्लामिक स्टेट) को हराया था.’ उसने कहा, ‘अमेरिका ने जो कुछ किया, वह वाकई अपराध है.’उसने कहा, ‘मैं उनकी शहादत पर शोक मनाने आयी हूं. बिल्कुल जवाब दिया जाना चाहिए लेकिन हम जंग नहीं चाहते हैं. कोई भी जंग नहीं चाहता है.’

खामनेई ने पढ़ाई जनाज़े की नमाज़सरकारी टेलीविजन के अनुसार इस प्रदर्शन में लाखों की संख्या में लोग पहुंचे थे. सुलेमानी की मौत का अमेरिकी से बदला लेने की ठान चुके सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खामनेई ने दिवंगत जनरल की जनाज़े की नमाज़ की इमामत की. अर्ध सरकारी संवाद समिति इसना के अनुसार सड़कों पर इतनी भीड़ थी कि लोग मेट्रो स्टेशनों से बाहर ही नहीं निकल पाये.

Sumo

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More