‘फ्री कश्मीर’ पोस्टर पर सियासत जारी, अब शिवसेना बोली-‘इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे’

0
jambo

मुंबई: जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) कैंपस के भीतर हुए हिंसा के विरोध में मुंबई के गेटवे ऑफ इंडिया पर छात्र रविवार से ही प्रदर्शन कर रहे थे, जिन्हें पुलिस ने मंगलवार की सुबह जबरन आजाद मैदान में शिफ्ट कर दिया है. प्रदर्शन के दौरान एक तस्वीर और वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है, जिसमें एक महिला अपने हाथ में ‘Free Kashmir’ (आजाद कश्मीर) का पोस्टर लिए हुए है. इस मामले में मुंबई में ज़ोन 1 के DCP संग्रामसिंह निशानदार ने बताया, “सोमवार रात को गेटवे ऑफ इंडिया पर हुए विरोध प्रदर्शन के दौरान देखे गए ‘फ्री कश्मीर’ पोस्टर को हमने गंभीरता से लिया है. हम निश्चित रूप से इसकी जांच कर रहे हैं.”

इतना ही नहीं, इस मामले में महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर न्यूज एजेंसी एएनआई का वीडियो शेयर करते हुए सवाल उठाया है. देवेंद्र फडणवीस ने उद्धव ठाकरे कार्यालय के ट्विटर अकाउंट को टैग करते हुए लिखा, ”विरोध वास्तव में क्या है? ‘फ्री कश्मीर’ के नारे क्यों? हम मुंबई में ऐसे अलगाववादी तत्वों को कैसे बर्दाश्त कर सकते हैं? मुख्यमंत्री कार्यालय से सिर्फ 2 किमी दूर पर आज़ादी गैंग द्वारा ‘फ्री कश्मीर’ के नारे? उद्धव जी क्या आप इस ‘फ्री कश्मीर विरोधी भारत अभियान’ को अपनी नाक के नीचे बर्दाश्त करेंगे?”

वहीं, शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा, “मैंने समाचारपत्रों में पढ़ा है कि जिन लोगों ने ‘फ्री कश्मीर’ का बैनर पकड़ा था, उन्होने स्पष्ट किया है कि वे इंटरनेट सेवाओं, मोबाइल सेवाओं पर पाबंदियों से आज़ादी चाहते हैं… इसके अलावा अगर कोई कश्मीर की भारत से आज़ादी की बात करता है, तो उसे सहन नहीं किया जाएगा.

बता दें कि हिंसा के विरोध में रविवार रात से मुंबई के गेटवे ऑफ इंडिया पर आंदोलन कर रहे छात्रों को पुलिस ने मंगलवार की सुबह जबरन हटाया है. इन छात्रों को जबरदस्ती उठा उठाकर पुलिस की गाड़ी में डाला गया. प्रदर्शन कर रहे लोगों को पुलिस ने आज़ाद मैदान शिफ्ट कर दिया है. पुलिस की दलील है कि गेटवे ऑफ इंडिया में प्रदर्शन के चलते ट्रैफिक की समस्या आ रही थी. आपको बता दें कि JNU में हिंसा के विरोध में रविवार रात से ही गेटवे ऑफ इंडिया पर लोग प्रदर्शन कर रहे थे, जिसमें छात्र, फिल्म जगत से जुड़े लोग भी शामिल थे.

Sumo

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More